9 हिंदी

आदमीनामा

नजीर अकबराबादी

NCERT Solution

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए:

Question 1: पहले छंद में कवि की दृष्टि आदमी के किन किन रूपों का बखान करती है? क्रम से लिखिए।

उत्तर: बादशाह, प्रजा, अमीर, गरीब, रईस और भिखारी

Question 2: चारों छंदों में कवि ने आदमी के सकारात्मक और नकारात्मक रूपों को परस्पर किन-किन रूपों में रखा है? अपने शब्दों में स्पष्ट कीजिए।

उत्तर: दुनिया में तरह तरह के आदमी होते हैं। अलग-अलग आदमी अलग-अलग जिम्मेदारियाँ लेता है। हर आदमी की अपनी अलग जीवन शैली होती है। अलग-अलग आदमी अलग-अलग काम करते हैं, अलग-अलग व्यवहार करते हैं और अलग-अलग गुणों वाले होते हैं।

Question 3: ‘आदमी नामा’ शीर्षक कविता के इन अंशों को पढ़कर आपके मन में मनुष्य के प्रति क्या धारणा बनती है?

उत्तर: मनुष्य भाँति भाँति के होते हैं। कोई अच्छा होता है तो कोई बुरा। कोई आलीशान महलों में रहता है तो उस महल को बनाने वाला मजदूर किसी झोपड़ी में रहता है। कोई धर्मात्मा होता है तो कोई पापी होता है।

Question 4: इस कविता का कौन सा भाग आपको सबसे अच्छा लगा और क्यों?

उत्तर: जिस भाग में मस्जिद बनानेवाले, मौलवी, नमाज पढ़ने वाले और मस्जिद के बाहर से जूते चुराने वाले का जिक्र हुआ है वह भाग मुझे सबसे अच्छा लगा। इस भाग में कवि ने जबरदस्त कटाक्ष किया है। सबसे ताज्जुब की बात यह है कि जूते चुराने वाले आज से तीन सौ साल पहले भी थे और अब भी हैं।

Question 5: आदमी की प्रवृत्तियों उल्लेख कीजिए।

उत्तर: आदमी बहादुर हो सकता है और कायर भी। आदमी पुण्यात्मा हो सकता है और पापी भी। कोई आदमी किसी की जान बचाता है तो कोई किसी की जान ले लेता है। आदमी चोर भी हो सकता है और पहरेदार भी।



Copyright © excellup 2014